महान राजा अकबर का इतिहास की कहानी

0

राजा अकबर के बारे में हम लोग तो सभी जानते है।कि वे एक अच्छे राजा थे।पर उनके पूरे इतिहास के बारे में बहुत लोग नही जानते है।आज हम राजा अकबर के पूरे इतिहास के बारे में जानेंगे।कि अकबर को थे।क्या करते थे।कहा के रहने वाले थे।कैसे राजा था।मतलब की पूरी कुंडली उनके बारे में हम जानेंगे।क्योंकि कई बार राजा अकबर के बारे में हमे कभी न कभी कही पर भी सुनने को ज़रूर मिला होगा।क्योंकि राजा अकबर बहुत ही बारे राजाओं में से एक थे।
और इतिहास के पन्नो में सबसे ज्यादा दिन तक राज करने वाले में से गिने जाने वाले वे राजा था।,,

akbar ka itihas

वे इसलिए भी काफी चर्चित है इतिहास में क्योंकि उन्होंने अपने देश मे हुकूमत तो किया ही था।साथ मे वे हमारे भारत देश मे भी हुकूमत किया था।लेकिन हमारे देश के भी कई वीर योद्धा ने उनका सामना भी किया पर वे अकबर के पास इतना ज्यादा सिपाही था कि हमारे वीर सैनिक उनका सामना नही कर पाए।खैर इसके बारे में हम नीचे में जानेंगे।उनका शुरुआती दौर के बारे में पहले जान लेते है।

अकबर कौन थे?

–>अकबर एक राजा थे।वे तैमूरी वंशावली के मुगल वंश का तीसरा शासक था।[4] अकबर को अकबर-ऐ-आज़म (अर्थात अकबर महान), शहंशाह अकबर, महाबली शहंशाह के नाम से भी जाना जाता है।
वे महान राजा बाबर का बेटे थे।उनका बाप का पूरा नाम जहरुदीन मोहहमद बाबर था।और म का नाम था हमीद बनो।उनका जन्म अफगानिस्तान में हुए था।उनका पूर्वज अफ़ग़ानिस्तम के राजा थे।लेकिन हिन्दुसान पहले बहुत ही बड़ा देश था।इसलिए वे हुमुमत के लिए यह चले आये।
एक पूरे सैनिक चंगेज खान देखभाल करते थे।ये मुगल बंश के तीसरे राजा था।जो कि हद से ज्यादा ताकतवर और बहुत ही दिमाग वाले राजा थे।जिनका युद्ध मे हराना किसी के लिए आम बात नही था।

राजा अकबर की पत्नियां|
=>जैसा कि हम TV सीरियल में देखा करते है कि।राजा की एक ही पत्नियां या फिर दो पत्नियां दिखाई जाती है।जोधा ।सबको पता है कि जोधा उनकी पत्नी है।लेकिन ये सचाई भी है युर झूट भी क्योंकि अगर जोधा उनकी असली पत्नी थी तो अकबर के बाद सलीम का राज्य होना चाहिए था।लेकिन उसके बेटे शाहजहां किया और अगर आप इतिहास निकल कर देखेंगे तो कही भी जोधा का नाम उनके पत्नियां में शामिल नही मिलेगी।लेकिन ऐसे बात करे तो उनकी पांच पत्नियां था।उसमें सबसे खास रुककईयाबेगम बेगम शाह थे।और वैसे तो इनके कई पत्नियां थी लेकिन उनका नाम पता इतिहास में दर्ज नही है।

अकबर का भारत मे राजगद्दी शाशन

==>हम जिस कई जानते है कि अकबर वैसे तो अफगानिस्तान के था।पर हमारा देश भारत काफी बड़ा था।ज़लिये अकबर भारत पर हुकुमियात के नजरिये से आगया।लेकिन हमारे डेज़ह का इतिहास ही ऐसा था कि हर क्षेत्र में कई राजा शाशन करते थे।जिससे वे लोग कमजोर होते थे।और यही फायदा हो गया अकबर को भारत मे घुसने का। वे कश्मीर और राजस्थान से एक एक किले को कब्जे करते चले गए।और उन्होंने इतनी बड़ी फौज खड़ी कर डाली की उनका टक्कर का कोई रहा है नही था।आयुर लास्ट में लड़ाई होता है महाराण प्रताप से।

अकबर का महाराणा प्रताप से भिड़न्त

==>अकबर भारत मे एक ही वीर से डरते थे और वे थे महाराणा प्रताप से।अकबर सबसे ज्यादा उन्ही से डर करता था।क्योंकि महाराण प्रताप बहुत ही प्रतापी राजा थे।वे बहुत ही भुजंग राजा थे। 7 फ़ीट का शरीर और छपन इंच का सीना था।और वे किसी से भी नही डरते थे।लेकिन अकबर उनसे बहुत डरता था।क्योंकि राणा प्रताप कभी भी अकबर के सामने सर नही झुकाये थे।और जब अकबर के सैनिक महाराणा प्रताप को पकड़ने जाते थे मरा के आजाते थे।एक बार राणा प्रताप ने अकबर के सैनिक को घोड़े के साथ उसपे बैठे सैनिक को बीच से अपनी तलवार से काट दिया था।एसलियस लोग कहते है अकबर कभी जीत नही महाराणा कभी हरे नही।

हिन्दू-मुस्लिम को एक साथ प्यार

==>यही एक राजा थे अकबर जो हिन्दू और मुस्लिम दोनों को एक साथ प्यार करते थे।वे हिंदु और मुस्लिम में कभी भेद भाव नही किये।जो लोग आते थे अकबर के दरबार से खाली हाथ माही लौटते थे।अकबर का दरबार हमेज़ह सबसे के लिए खुला रहता था।उनके दरबार मे 9 रत्न मौजूद थे।तानसेन जैसे गायक उनके दरबार मे मौजूद थे जिनकी आवाज से दीपक तक जल उठता था।अकबर की बात की जाए तो वह अबतक के सभी राजा में से अच्छे राजा में गिने जाते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here